सवाल

ऐ जिन्दगी एक सवाल है तुमसे

तेरे बज्म में इतना बवाल क्यों है,

कभी एक पल में खुशियों की

हलचल है तो,

तो कभी आंसुओं का सैलाब क्यों है ?

हर पल रूप बदलती तेरे आगोश में,

हम इंसानों के लिए इतना निष्ठुर क्यों,

हम हर हाल में तेरे हर शै के अंजाम

क्यों हैं ।

ऐ जिन्दगी तेरे बज्म में इतना बवाल

क्यों है ।।

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s

Create your website with WordPress.com
Get started
%d bloggers like this: